Aartis

शिव जी की आरती । Lord Shiva Aarti



Shiv ji aarti, Lord Shivay, shiv jiशिव जी को भोलेनाथ के नाम से भी जाना जाता है । भगवान शिव भक्त की भक्ति मात्र से खुश हो जाते है । हिन्दू धर्म में भगवान शिव की बहुत ज्यादा मान्यता है । शिव जी की अराधना के लिए शिव जी की आरती का पाठ करे । 
Lord Shiva is also known as Bholenath. Lord Shiva happy just devotion of his and her devotee. In Hinduism, lord shiv is very much recognition, God. To worship Shiva do lessons of Shiv Aarti.

Shiv ji aarti, Lord Shivay, shiv ji

शिव जी की आरती । Lord Shiva Aarti

ॐ जय शिव ओंकारा......
एकानन चतुरानन पंचांनन राजे |
हंसासंन ,गरुड़ासन ,वृषवाहन साजे॥

ॐ जय शिव ओंकारा......
दो भुज चारु चतुर्भज दस भुज अति सोहें |
तीनों रुप निरखता त्रिभुवन जन मोहें॥

ॐ जय शिव ओंकारा......
अक्षमाला ,बनमाला ,रुण्ड़मालाधारी |
चंदन , मृदमग सोहें, भाले शशिधारी ॥

ॐ जय शिव ओंकारा......
श्वेताम्बर,पीताम्बर, बाघाम्बर अंगें
सनकादिक, ब्रम्हादिक ,भूतादिक संगें

ॐ जय शिव ओंकारा......
कर के मध्य कमड़ंल चक्र ,त्रिशूल धरता |
जगकर्ता, जगभर्ता, जगसंहारकर्ता ॥

ॐ जय शिव ओंकारा......
ब्रम्हा विष्णु सदाशिव जानत अविवेका |
प्रवणाक्षर मध्यें ये तीनों एका ॥

ॐ जय शिव ओंकारा......
काशी में विश्वनाथ विराजत नन्दी ब्रम्हचारी |
नित उठी भोग लगावत महिमा अति भारी ॥

ॐ जय शिव ओंकारा......
त्रिगुण शिवजी की आरती जो कोई नर गावें |
कहत शिवानंद स्वामी मनवांछित फल पावें ॥

ॐ जय शिव ओंकारा.....
जय शिव ओंकारा हर ॐ शिव ओंकारा|
ब्रम्हा विष्णु सदाशिव अद्धांगी धारा॥
ॐ जय शिव ओंकारा......



About Puneet Tayal

MangalMurti.in. Powered by Blogger.