facts

क्या आपकी नाभि भी रुई उगलती है ? | The curious case of belly button fluff




कभी-कभी तो लगता है की एक फैक्ट्री संग लिये घूम रहा हूँ | पर परेशानी ये है की किसी को बता नहीं सकता | अब भला किस मुँह से किसी से कहते फिरेंगे की भैया हमारी नाभि हर सुबह रुई उगलती है | लोग कहेंगे की नहाते धोते नहीं होगे, साफ़ सफाई नहीं रखते होगे, खान पान सही नहीं होगा | इतने सवालों के डर के मारे कभी ज़बान पे लाये ही नहीं ये बात | कुछ दोस्तों से बातें की तो पता चला उनकी नाभि से भी रुई उत्पादन धड़ल्ले से चल रहा है | थोड़ा गूगल पे जाके यहाँ वहाँ की खोज किये तो पता चला की ये समस्या ज्यादातर नर और मादाओं को है | पर उस दिन जब BBC की रिपोर्ट पढ़ी ( अरे वही BBC जो विश्व की सबसे बड़ी न्यूज़ एजेंसी है ) तो सारे जवाब खुलने लगे | तो आज हम लाये है आपके लिये एक खास रिसर्च जो बताएगी की आपकी नाभि में हर रोज ये रुई आती कहा से है ?


क्या है ये नाभि में रुई का माज़रा ?

यहाँ आपको दो महत्वपूर्ण बातों के बारे में जानने की जरूरत है | पहला यह है कि बाहर की दुनिया में इस समस्या को "Navel Fluff" के नाम से जाना जाता है, हालांकि कभी-कभी वैज्ञानिक भाषा में इस परेशानी को "Belly Button Lint" (बीबीएल) कहते हैं | दूसरी बात यह है कि Navel Fluff की ये समस्या अक्सर मध्यम आयु वर्ग के ज्यादा बाल वाले पुरुषों, विशेष रूप से जिन्होंने हाल ही में वजन बढ़ाया हो उनमे अधिक संख्या में पायी जाती है |


तो भैया, किसने की खोज इस रुई की ?

सिडनी विश्वविद्यालय के Karl Kruszelnicki नाम के एक शोधकर्ता के ये निष्कर्ष हैं | एक ऑस्ट्रेलियाई विज्ञान रेडियो शो के दौरान डॉ कार्ल से उनके एक प्रशंसक ने सवाल किया की "क्या आपको पता है की ये नाभि में हर रोज़ रुई कहा से आ जाती है ?" | यही कारण है जिसने Kruszelnicki को इस सवाल का जवाब ढूँढने के लिए प्रेरित किया |  अपने शोध के लिए, Kruszelnicki को 2002 में नोबेल पुरस्कार के सम्मान से नवाजा गया |

ये रुई रोज़ बनती कैसे है ?

डॉक्टर कार्ल और उनके सहयोगियों ने जब इस विषय पर रिसर्च करना शुरू किया तब उनको ये बात समझ में आयी की दरअसल हर रोज सुबह नाभि में भरने वाली रुई आती कहाँ से हैं | होता कुछ यूँ हैं की हम जो भी कपड़े पहनते है उन कपड़ों का जो हिस्सा हमारी नाभि के इर्द-गिर्द होता है, उसके भीतरी हिस्से से हमारे नाभि पर उपस्थित बाल रुई चुराते हैं और नाभि में भर देते हैं | दरअसल ये हमारे बाल नहीं, बल्कि उनमे मौजूद एक खास तरह के सूक्ष्मजीव की वजह से होता है |


कार्ल ने अपनी रिसर्च में ये भी पाया की आप जितना पुराना कपडा पहनेंगे उतना ही कम Navel fluff जमा होगा | ये कोई चिंता का विषय नहीं है, ना ही अपमान कि कोई बात | ये शरीर की एक स्वाभाविक प्रक्रिया है |



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.