facts

हिन्दुस्तान में रह कर अगर इन 5 धर्मस्थलों को नहीं देखा तो मतलब कुछ नहीं देखा | Top 5 religious pilgrimage in India



सात समंदर पार की दुनिया कितनी फिल्मी लगती हैं न ? शायद इसलिये क्योंकि वहाँ दुनिया भर की चीज़ें हैं मन बहलाने को | कहीं भी घूम लो, कभी भी घूम लो | कुछ भी पहनो, कुछ भी बोलो | सही है. नहीं ? और ये सोच कर यहाँ बैठे हम हिन्दुस्तानी विदेश जाने के प्लान बनाने लगते हैं | कभी-कभी तो हम इस पाखंड की सारे हदें पार कर देते हैं | इसके पीछे का कारण एकदम सीधा और सरल है और वो है अजागरूकता | हमें पता ही नहीं की हिन्दुस्तान में ही धरती का स्वर्ग कहे जाने वाली जगह कश्मीर है, पहाड़ों के टीले हैं, नदियों का कल-कल करता शोर है, हवा में घुलती रौनक है और एक शांति है, अजीब सी, सुकून में डूबी |


तो आज हम आपको करने वाले है भारत के उन 5 बेहतरीन तीर्थस्थानों के दर्शन जहाँ अपने जीवनकाल में जाना हर किसी का सपना है | इन जगहों पर लाखों की संख्या में विदेशी सैलानी आते है कुछ खोजने, टटोलने, खोने | आप भी घर पर बैठे ना रहें, एक खिड़की खोले अपने उस बंद कमरे में जहाँ खिड़की से छनती रोशनी पूरा कमरा रौशन कर दे |

1. बद्रीनाथ धाम :


उत्तराखंड की गोद में बसा ये धाम बद्रीनारायण मंदिर के नाम से भी जाना जाता है | गंगोत्री से निकलीं गंगा जब इस धाम के चरण पखारते हुए गुजरती हैं तो मंदिर में बैठे भगवान् विष्णु इन्हें अलकनंदा नाम से पुकारते हैं | हिन्दू धर्म में दो वर्ग है : सन्यासी और गृहस्त | तो गृहस्त वर्ग के बीच ये बद्रीनाथ धाम किसी स्वर्ग भ्रमण से कम नहीं है |

2. केदारनाथ धाम :


भगवान् शंकर के 12 ज्योतिर्लिंगों में से जो धाम सबसे प्रिय है सैलानियों का वो है केदारनाथ धाम | गढ़वाल के ऊँचे पहाड़ जो हमेशा बादलों में घुलते नज़र आते हैं उन पहाड़ों की श्रृंखला पर बसे इस धाम को हिन्दू धर्म ही नहीं बल्कि अन्य धर्म और सम्प्रदाय के लोग भी बहुत ही पवित्र मानते हैं | ये मंदिर सिर्फ अप्रैल के महीने से लेकर कार्तिक पूर्णिमा के बीच दर्शन के लिये खोला जाता है | बाकि समय मौसम की कठिनाइयों की वजह से मंदिर के पट दर्शन के लिये बंद ही रहते हैं |

3. स्वर्ण मंदिर :


आप निश्चित ही अमृतसर वाले स्वर्ण मंदिर से मुखातिब होंगे पर ज्यादातर लोग ये नहीं जानते की इस मंदिर को हरमिंदर साहिब और श्री दरबार साहिब के नाम से भी जाना जाता है | एक मजे की बात तो ये भी है की स्वर्ण मंदिर के दर्शन करने प्रत्येक दिन 1 लाख के आस पास लोग आते हैं जो की ताज महल को देखें जाने वाले पर्यटकों की संख्या से भी ज्यादा है | सिख धर्म की इस अनूठी मिसाल से हर कोई हमेशा प्रभावित होता है | ऐसी मान्यता भी है की अगर आप स्वर्ण मंदिर के सरोवर में स्नान करें तो आपकी आत्मा तक शुद्ध हो जाती है |

4. मक्का मस्जिद :


हैदराबाद में बनी ये 75 फीट ऊँची, 220 फीट चौड़ी और 180 फीट लम्बी मस्जिद शायद और कहीं नहीं मिलेगी | भारत के इतिहास की नक्काशी इस ईमारत की दीवारों पर टकी पड़ी है | एक साथ 10,000 से भी ज्यादा लोगों को ख़ुदा के सजदे में सर झुकाते देखना अपने आप में अद्वितीय है | एक अलग ही सुकून महसूस होता है जब आप इस मस्जिद के गलियारों में बैठकर ख़ुदा से सदका करते हैं |

5. काशी विश्वनाथ, बनारस :


अगर आपको ये जिंदगी वाला फंडा सोने नहीं देता तो बनारस आपके लिये सबसे परफेक्ट जगह है | जो लोग जागते हुए भी अपने व्यस्त जीवन से समय निकाल के यहाँ नहीं आ पाते वो अपने माटी के शरीर से राख बनने के बाद यहाँ गंगा मैया को छूने ज़रूर आते हैं | जो सबसे बड़ा आकर्षण है इस शहर का वो यहाँ बसे भगवान शंकर हैं | काशी विश्वनाथ का मंदिर रोज हजारों की संख्या में भक्तों के जत्थे से टकराता है, उनको बदलता है और वापिस भेज देता है | इस शहर से कोई खाली हाथ नहीं जाता | बनारस हर किसी के खलीते में उसके सवालों के जवाब डालकर उन्हें वापिस भेजता है |



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.