holi

मंगलमूर्ति की रसोई : बिन गुझिया होली लागे बड़ी सूनी | How to prepare Gujhiya on this Holi ?



कैसे बनती है होली वाली गुझिया ?


होली के लिये बनाये जाने वाले पारम्परिक रूप से पकवानों में गुझिया का खास स्थान है। गुझिया कई तरह से बनाईं जातीं है, मावा भरी गुझिया या मावा इलायची भरी गुझिया जिनके ऊपर चीनी की एक परत चढ़ी होती है। इसके अलावा सेब गुझिया, मेवा गुझिया , अंजीर गुझिया , काजू गुझिया, पिस्ता गुझिया  और बादाम गुझिया भी बनायीं जातीं है। आप अपनी मनचाही गुझिया बना सकते है बस इसके अन्दर भरे जाने वाली कसार अपने मन मुताबिक तैयार कर लें। आईये हम मावा गुझिया बनायें।

आवश्यक सामग्री - गुझिया में भरने के लिये मिश्रण 



  • मावा - 400 ग्राम(2 कप)
  • सूजी - 100 ग्राम (1 कप)
  • घी - 2 टेबल स्पून
  • चीनी - 400 ग्राम (2 कप)
  • काजू - 100 ग्राम (एक काजू को 5-6 टुकड़े करते हुये काट लीजिये)
  • किशमिश - 50 ग्राम (डंठल हों तो, तोड़ दीजिये)
  • छोटी इलाइची - 7-8 (छील कर कूट लीजिये)
  • सूखा नारियल - 100 ग्राम (1 कप कद्दूकस किया हुआ)

विधि -

भारी तले की कढ़ाई में मावा को हल्का ब्राउन होने तक भूनिये और एक बर्तन में निकाल लीजिये। कढ़ाई में घी डाल कर, सूजी डालिये, हल्का ब्राउन भून कर, एक प्लेट में निकाल लीजिये। चीनी को पीस लीजिये। सूखे मेवे कटे हुये तैयार हैं। मावा, सूजी, चीनी और मेवों को अच्छी तरह मिला लीजिये। गुझियों में भरने के लिये कसार तैयार है।

आवश्यक सामग्री - गुझिया का आटा तैयार करने के लिये


  • मैदा - 500 ग्राम (4 कप)
  • दूध या दही - 50 ग्राम (जो आप चाहें, 1/4 कप)
  • घी - 125 ग्राम (2/3 कप ) आटा गूथने में डालने के लिये
  • घी - गुझिया तलने के लिये

विधि- 



  • मैदा को किसी बर्तन में छान कर निकाल लीजिये। घी पिघला कर आटे में डाल कर, अच्छी तरह मिलाइये। अब दूध डालकर आटे में मिलाइये, पानी की सहायता से कड़ा आटा गूथ लीजिये। आटे को आधा घंटे के लिये गीले कपड़े से ढककर रख दीजिये।
  • आटे को खोलिये और मसल मसल कर मुलायम कीजिये। आटे से छोटी छोटी लोई तोड़ कर बना लीजिये( इतने आटे से 50- 55 लोइयां बन जायेगी)। लोइयों को गीले कपड़े से ढककर रखिये, एक लोई निकालिये 4 इंच के व्यास में पूरी बेलिये, बेली हुई पूरी थाली में रखते जाइये।  जब 10 - 12 पूरियां थाली में हो जायं, अब इन्हैं भर कर गुझिया तैयार कर लीजिये।


गुझिया भरने के तरीके:



  • पूरी को हाथ पर रखना, पूरी के ऊपर मिश्रण रखना, मोड़ कर, बन्द करना, और गोंठना।
  • पूरी को, गुझिया के सांचे के ऊपर रखना, पूरी के ऊपर मिश्रण रखना, किनारों से पानी लगाकर, बन्द करना, दबाना।



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.