facts

कौरवों और पांडवों के बीच के ये 5 कनेक्शन अगर नहीं पता तो महाभारत देखना बेकार हुआ समझो | 5 connections between Kauravas and Pandavas



महाभारत के समय की अनेको बातें तो हमने बचपन में टी.वी पर देख ली थी पर कुछ ऐसे अनछुए पहलु भी है महाभारत के जिनसे हम हमेशा से अनभिज्ञ थे | आज हम आपके सामने लेके आये हैं कुछ वैसे ही अनदेखे और अनकहे किस्से | तो ध्यान से पढ़िए हमारा आज का विशेषांक |


कौरवों और पांडवों के बीच के 5 कनेक्शन :

1. जिस दिन दुर्योधन पैदा हुआ था ठीक उसी दिन भीम का भी जन्म हुआ था |



2. कौरव सिर्फ सौ भाई नहीं थे | उनकी एक बहन दुश्शला भी थी | बाद में उसकी शादी जयद्रथ से हुई |

 

3. कई लोगों को लगता है धृतराष्ट्र के बेटों में दुर्योधन के बाद दु:शासन का नम्बर आता है | जबकि ऐसा है नहीं | धृतराष्ट्र के बेटों में सबसे बड़ा दुर्योधन और उससे छोटा युयुत्सु था जो एक दासी का बेटा था | कौरवों में सबसे छोटा विरजा था |



4. दुर्योधन के भाइयों में कर्ण और भीम भी थे | जी हां! दुर्योधन के तीन भाइयों के नाम दुष्कर्ण,कर्ण और विकर्ण और तीन के भीमवेग,भीमबल और भीमरथ थे |



5. युयुत्सु महाभारत की लड़ाई में अपने भाई दुर्योधन की बजाय पांडवों की ओर से लड़ा था और बाद में युधिष्ठिर के राज में मन्त्री भी बना |

दुर्योधन के सौ भाईयों के नाम पढ़िए :


दुर्योधन,युयुत्सु,दु:शासन,दुस्सह,दुश्शल |

जलसन्ध,सम,सह,विन्द,अनुविन्द |

दुर्ध्दर्ष,सुबाहु,दुष्प्रधर्षण,दुर्मर्षण,दुर्मुख |

दुष्कर्ण,कारण,विविंशति,विकर्ण,शाल |

सत्व,सुलोचन,चित्र,उपचित्र,चित्राक्ष,चारुमित्र |

शरासन,दुर्मद,दुर्विगाह,विवित्सु,विकटानन |

ऊर्णनाभ,सुनाभ,नन्द,उपनन्द,चित्रबाण |

चित्रवर्मा,सुवर्मा,दुर्विमोचन,अयोबाहु,महाबाहु |

चित्रांग,चित्रकुण्डल,भीमवेग,भीमबल,बालाकि |

बलवर्द्धन,उग्रायुध,सुषेण,कुण्डधार,महोदर |

चित्रायुध,निषंगी,पाशी,वृन्दारक,दृढ़वर्मा |

दृढ़क्षत्र,सोमकीर्ति,अनूदर,दृढ़संध,जरासंध |

सत्यसंध,सद:सुवाक्,उग्रश्रवा,उग्रसेन |

सेनानी,दुष्पराजय,अपराजित,कुण्डशायी,विशालाक्ष |

दुराधर,दृढ़हस्त,सुहस्त,बातवेग,सुवर्चा |

आदित्यकेतु,बह्वाशी,नागदत्त,अग्रयायी,कवची |

क्रथन,कुंडी,उग्र,भीमरथ,वीरबाहु,अलोलुप |

अभय,रौद्रकर्मा,दृढरथाश्रय,अनाधृष्य,कुण्डभेदी |

विरावी,प्रथम,प्रमाथी,दीर्घरोमा,दीर्घबाहु,महाबाहु |

व्यूढ़ोरस्क,कनकध्वज,कुण्डाशी,विरजा |



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.