facts

क्या आपकी मम्मी ने आपको कभी दिशा-शूल का कांसेप्ट बताया ? | What is the concept behind Disha-Shool ?



आजकल जैसे-जैसे आवागमन के साधनों में बढ़ोतरी हो रही है वैसे ही हमारी यात्राएं भी बढ़ रही हैं | घुमना-फिरना या ट्रेवलिंग पर सामान्यत: सभी जाते ही हैं | कुछ लोगों को काफी यात्राएं करनी होती है तो कुछ लोगों को कम | अधिकांश लोग व्यापार-व्यवसाय या नौकरी के संबंध में यात्राएं करते हैं | ऐसी यात्राएं काफी महत्वपूर्ण होती हैं, इन पर व्यक्ति की सफलता या असफलता निर्भर करती है | तो आइये आज जानते हैं आमतौर पर घर में यात्रा के दौरान सुने जाने वाले इस शब्द दिशा शूल के बारे में |


तो क्या कहता है ज्योतिष शास्त्र दिशा शूल के बारे में ?

यात्रा के महत्व को देखते हुए ज्योतिष शास्त्र में कई नियम बताए गए हैं | यदि गलत समय पर यात्रा की जाए तो निश्चित ही इसके परिणाम भी निराशाजनक ही प्राप्त होते हैं | शास्त्रों के अनुसार सप्ताह के सभी दिनों में यात्रा के संबंध में अलग-अलग नियम बनाए गए हैं | जानिए, हमें किस दिन कौन सी दिशा में यात्रा नहीं करनी चाहिए.

शनिवार एवं सोमवार :

इन दोनों दिन पूर्व दिशा में यात्रा करने से बचना चाहिए | इन दिनों में पूर्व दिशा की ओर यात्रा करने से असफलता झेलने के प्रबल योग बनते हैं |

बुधवार एवं मंगलवार :

इन दोनों दिन को उत्तर दिशा की ओर आवागमन नहीं करना चाहिए | ऐसा करने पर कार्य में कई प्रकार की बाधाएं उत्पन्न होती हैं |

गुरुवार :

गुरुवार के दिन दक्षिण दिशा में यात्रा को टाल देना चाहिए |

शुक्रवार एवं रविवार :

इन दोनों दिनों को पश्चिम दिशा में यात्रा का त्याग करना चाहिए | 

दिनों के अनुसार यदि निषेध दिशा में यात्रा करना बहुत जरूरी हो तो उसके लिये भी हमारे ज्योतिषियों ने उपाय ढूंढ रखे है | नीचे दिये गये उपाय करने से दिशा शूल के प्रकोप से बचकर यात्रा को मंगलकारी बनाया जा सकता है |



1-रविवार को यदि पश्चिम दिशा की यात्रा करनी हो तो-घर से दलिया और घी खाकर निकले |
2-सोमवार के दिन पूर्व दिशा की यात्रा करनी पड़े तो-घर से दर्पण देखकर निकलना चाहिए |
3-मंगलवार को यदि उत्तर दिशा की यात्रा करनी हो तो-घर से गुड़ खाकर निकलना चाहिए |
4-यदि बुधवार के दिन उत्तर दिशा की यात्रा करना जरूरी हो तो-घर से धनिया व तिल खाकर निकलना चाहिये |
5-गुरूवार के दिन दक्षिण दिशा की यात्रा करने से पूर्व थोड़ा दही खाकर घर से निकलना चाहिए |
6-यदि शुक्रवार के दिन पश्चिम दिशा की यात्रा करना जरूरी हो तो-घर से थोड़ा जौ खाकर निकले |
7-शनिवार के दिन यदि पूर्व दिशा की यात्रा करना आवश्यक हो तो-अदरक एक टुकड़ा या काली उड़द खाकर घर से निकलें |





About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.