facts

शिव जी के 5 पसंदीदा प्रसाद जिन्हें चढ़ाना कभी ना भूलें | Lord Shiva's 5 most favourite offerings



महाशिवरात्रि का समय नजदीक आता जा रहा है और शिव भक्तों के इस महापर्व पर की जाने वाली तैयारियाँ जोरों पर हैं। जहाँ हर कोई इस ख़ास दिन पर भोले भंडारी पर सब कुछ अर्पण करने के लिये तैयार है वहीँ ज्यादातर लोगो को ये बात भी नहीं पता की शिव को सबसे ज्यादा क्या पसंद है ? तो हमारा आज का विशेषांक इस बात के इर्द-गिर्द ही है की भगवान् शिव वो कौन सी ऐसी 5 चीजे बहुत पसंद है जिसे अगर भक्त उन्हें अर्पित करें तो पल भर में अपने भक्तों के हो जायें। तो आइये जानते है यहाँ एक-एक करके इन पाँचो प्रसाद के बारे में।

1. बेलपत्र : 

“बेल-पत्र” देखने में तो एक साधारण सा पत्र है परन्तु भोले नाथ को अत्यंत प्रिय है, जो व्यक्ति एक, तीन या पांच की संख्या में शुद्ध बेलपत्र भगवान् शंकर पर चढ़ाता है वह निःसंदेह ही इस भव-सागर से पार हो जाता है।  जो व्यक्ति अखंडित (बिना कटा हुआ ) बेलपत्र भगवान शिव पर चढ़ाता है, वह निर्विवाद रूप से अंत में शिव लोक को प्राप्त होता है। 

2. भांग :

पहाड़ों में होने वाली बर्फबारी से वहां का वातावरण अधिकांश समय बहुत ठंडा होता है। भांग जैसी चीजें नशे के साथ ही शरीर को गरमी भी प्रदान करती हैं | जो वहां सन्यासियों को जीवन गुजारने में मददगार होती है।अगर थोड़ी मात्रा में ली जाए तो यह औषधि का काम भी करती है, इससे अनिद्रा, भूख आदि कम लगना जैसी समस्याएं भी मिटाई जा सकती हैं। 

3. धतूरा :

धतूरे के पत्तों का धूँआ दमा शांत करता है। तथा धतूरे के पत्तों का अर्क कान में डालने से आँख का दुखना बंद हो जाता है। धतूरे की जड सूंघे तो मृगीरोग शाँत हो जाता है। आयुर्वेद के ग्रथों में इसे विष वर्ग में रखा गया है। अल्प मात्रा में इसके विभिन्न भागों के उपयोग से अनेक रोग ठीक हो जाते हैं। बह्ग्वान शिव को धतूरा उतना ही पसंद है जितना की भांग और बेलपत्र तो कभी भी शिव को धतूरा चढ़ाना न भूलें। 

4. दूध :

भगवान शिव को दूध अर्पित करने से उत्तम स्वास्थ्य मिलता है। भगवान् शिव का सावन माह में जब भी रुद्राभिषेक होता है तब शिव को दूध से नहलाया जाता है।  ऐसी मान्यता है की शिव दूध के स्नान से शांत और प्रसान्चित्त हो जाते हैं और अपने भक्तों को मनचाहा वरदान भी देते हैं। 

5. चंदन :

शिवजी को चंदन चढ़ाने से हमारा व्यक्तित्व आकर्षक होता है। समाज में मान-सम्मान प्राप्त होता है। अगर आपने कभी ध्यान दिया हो तो महादेव के प्रत्येक शिवलिंग का जब श्रृंगार किया जाता है तब उनके ललाट पर तीन उँगलियों से चंदन का तिलक लगाया जाता है। ये तिलक और अभिषेक भगवान शिव को अत्यंत ही पसंद है और हर भक्त को हमेशा चंदन की भेंट शिव को अर्पित करनी चाहिये।




About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.