facts

हनुमान जी की 5 सबसे बड़ी मूर्तियाँ कहाँ-कहाँ है ? | Top 5 tallest statues of Lord Hanuman



भगवान राम के सच्चे और सबसे बड़े भक्त हनुमान जी की प्रसिद्धि जग जाहिर है | हिन्दुस्तान में जितने मंदिरों में भगवान राम की मूर्ति स्थापित है उतने ही मंदिरों में हनुमान जी विराजमान हैं | सच्ची प्रभु भक्ति का इससे बड़ा उदाहरण और उस प्रभु भक्ति का ऐसा फल हमें विरला ही मिलता है | हनुमान जी की प्रतिमा जहाँ भी स्थापित हो जाए वहां भक्तों का ताँता लग जाता है | ऐसे ही कुछ मंदिर हैं जहाँ दूर दूर से हनुमान भक्त अपने इष्ट देव की पूजा अर्चना करने आते हैं | तो आइये आज आपको ऐसे ही उन 5  बड़े मंदिरों के बारे में बताते हैं जहाँ मारुतिनंदन के दर्शन मात्र से ही कट जाते हैं सारे पाप |

1. अमृतसर (पंजाब ) :


ये अमृतसर से लगभग 12 कि.मी. की दूरी पर राम तीर्थ नाम का एक जगह है | वहाँ पर भगवान हनुमान की लगभग 80 फीट ऊंची एक प्रतिमा है | श्रीराम के त्यागे जाने के बाद माता सीता ने इसी जगह पर वाल्मीकि जी के आश्रम में रहीं थीं | जिसकी वजह से इस जगह का बहुत अधिक महत्व है | भगवान हनुमान की राम तीर्थ की मूर्ति देश की सबसे बड़ी हनुमान मूर्तियों में से एक है |

2. छिंदवाड़ा ( मध्‍यप्रदेश ) :


हनुमान जी की एक विशाल प्रतिमा मध्‍यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में भी मौजूद है | शहर से 15 किमी दूरी पर सिमरिया में हनुमान जी की यह प्रतिमा स्थापित है | कहा जाता है कि इस हनुमान प्रतिमा की ऊंचाई लगभग 101 फीट की है |


3. बुलढाना ( महाराष्ट्र ) :


महाराष्ट्र के बुलढाना जिले में नन्दुरा नाम के छोटे से इलाके में भगवान हनुमान की विशाल मूर्ति है | यह मूर्ति लगभग 105 फीट ऊंची होने के कारण इसे भगवान हनुमान की दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी प्रतिमा कहा जाता है | यह नेशनल हाई-वे नं. 6 के पास ही स्थित है |

4. जाखू मंदिर ( हिमाचल प्रदेश ) :


शिमला में जाखू पहाड़ी पर समुद्र तल से 8048 फीट की ऊँचाई पर स्थित यह मंदिर, बर्फीली चोटियों, घाटियों और शिमला शहर का सुंदर और मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है | भगवान हनुमान को समर्पित यह धार्मिक केंद्र रिज के निकट स्थित है | यह मंदिर कई बातों के लिए प्रसिद्ध है | जिनमें से एक है भगवान हनुमान की विशाल मूर्ति | यहां की मूर्ति की ऊंचाई लगभग 108 फीट की है | इस मूर्ति का निर्माण सन् 2010 में करवाया गया था |

5. विजयवाड़ा ( आंध्र प्रदेश ) :


भगवान हनुमान की ये मूर्ति विजयवाड़ा में साथ्पित है इस मूर्ति को वीर अभय अंजनी हनुमान स्वामी के नाम से जाना जाता है  | इस मूर्ति की स्थापना 2003 में की गई थी  | इसकी ऊंचाई लगभग 135 फीट है  | भगवान हनुमान की यह प्रतिमा रियो डी जनेरियो में क्राइस्ट द रिडीमर की प्रतिमा से भी लंबी है  |



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.