Beliefs

क्या आप जानते है गोमती चक्र के असरदार उपाय ? | Benefits of Gomti Chakra



*यह आर्टिकल राखी सोनी द्वारा लिखा गया है। 

ऐसा कोई मनुष्य नहीं होगा, जिसे कोई न कोई परेशानी का सामना न करना पड़ता हो। हर व्यक्ति को अपने जीवन में कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ता है। जहां कुछ समस्या समय के साथ हल हो जाती है, जबकि कुछ लाख कोशिश करने के बाद भी पीछा नहीं छुड़ाती है। ऐसी परेशानी से छुटकारा दिलाने में गोमती चक्र महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। गोमती चक्र के जरिए कई समस्याओं से आसानी से बचा जा  सकता है।

क्या होता है गोमती चक्र ?


गोमती चक्र एक ऐसा पत्थर है, जो गोमती नदी में पाया जाता है। इसका उपयोग कई सालों से तांत्रिक अपनी तंत्र क्रियाओं में भी करते आ रहे हैं। ये पत्थर छोटा सा होता है, लेकिन इसमें ऐसी शक्तियां होती है,जिससे कई तरह के कष्टों से आसानी से मुक्ति पाई जा सकती है।

बुरी शक्तियों का होगा नाश :

अगर घर में नकरात्मक शक्तियों का प्रभाव देखने को मिल रहा है तो दो गोमती चक्र को घर के मुखिया के सिर के ऊपर से घुमाकर अग्नि में डाल दें। भूत प्रेत और नकारात्मक शक्तियों का विनाश होगा।  ऐसा कोई व्यक्ति है, जो बार-बार बीमार पड़ रहा है तो एक गोमती चक्र को चांदी में पिरोकर रोगी के पलंग के पाए पर बांध दे। रोगी को तुरंत आराम मिलेगा।

मिलेगी तरक्की :


गोमती चक्र लक्ष्मी का स्वरुप है। अगर बिजनेस में सफलता पाना चाहते हैं तो दो गोमती चक्र को बांधकर दीवार की चौखट पर लटका दे। व्यापार तेजी से चलने लगेगा। इसके साथ ही 11 गोमती चक्र एक लाल पोटली में बांधकर दुकान में रखने से व्यापार में तरक्की मिलती है। नौकरी में प्रमोशन के लिए हर सोमवार शिवजी को एक गोमती चक्र चढ़ाएं। उनसे प्रार्थना करें, शीघ्र ही प्रमोशन मिलेगा।  

पुत्र प्राप्ति का वरदान :

अगर पुत्र प्राप्ति का वरदान चाहते हैं तो पांच गोमती चक्र लेकर किसी नदी या तालाब में हिलि हिलि मिलि मिलि चिलि चिलि हुक पांच बोलकर विसर्जित करें। यदि बार-बार गर्भ गिर रहा हो तो दो गोमती चक्र लाल कपड़े में बांधकर कमर में बांध दें तो गर्भ गिरना बंद हो जाता है।

होगा धन लाभ :

बिना किसी वजह से धन की हानि हो रही है, तो किसी भी मास के प्रथम सोमवार को 21 अभिमन्त्रित गोमती चक्रों को पीले अथवा लाल वस्त्र में बांधकर धन रखने के स्थान पर रखकर हल्दी से तिलक करें। इसके बाद पोटली को पूरे घर में घुमाकर किसी मंदिर में रख दें।  इसके साथ ही अगर आमदनी से ज्यादा खर्चा हो रहा है तो तो शक्रवार को 21 अभिमन्त्रित गोमती चक्र को  पीले या लाल वस्त्र पर स्थान देकर धूप-दीप से पूजा करें । अगले दिन उनमें से चार गोमती चक्र उठाकर घर के चारों कोनों में एक-एक दबा दें। जबकि १३ गोमती चक्रों को लाल वस्त्र में बांधकर धन रखने के स्थान पर रख दें और शेष किसी मंदिर में अपनी समस्या निवेदन के साथ प्रभु को अर्पित कर दें। इसके अलावा अभिमंत्रित गोमती चक्र और काली हल्दी को पीले कपड़े में बांधकर धन रखने के स्थान पर रखने से आर्थिक स्थिति मजबूत होती है।

अन्य उपाय भी :


  • गोमती चक्र शत्रु से भी विजय प्राप्त कराता है। ऐसा कहा शत्रु के नाम में जितने अक्षर है, उतने गोमती चक्र लेकर उसपर शत्रु का नाम लिखकर जमीन पर दबा देने से शत्रु का विनाश होता है। 
  • अगर बार-बार नजर लगती है तो पांच गोमती चक्र लेकर किसी सुनसान स्थान पर जाए। फिर तीन चक्रों को अपने ऊपर से सात बार उसारकर अपने पीछे फेंक दें तथा पीछे देखे बिना वापस आ जाए। जबकि शेष दो चक्रों को तीव्र प्रवाह के जल में बहा दे।



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.