Beliefs

सावन के महीने में इन उपायों को भी अपनाएं, होगी हर मनोकामना पूर्ण | How to worship shiva in saawan



*यह आर्टिकल राखी सोनी द्वारा लिखा गया है।


शिव शंकर को भोलेनाथ भी कहा जाता है। ये बात तो सभी जानते हैं, लेकिन उनका नाम भोले क्यों पड़ा। इसके पीछे भी एक तथ्य है। कहा जाता है कि भगवान भोले अपने भक्तों की मनोकामना शीघ्र पूूरी करते हैं। थोड़ी सी भक्ति से ही प्रसन्न हो उठते हैं। सावन का महीना भगवान भोलेनाथ का होता है। ऐसा कहा जाता है कि इस महीने में भी जो भी भक्त सच्चे मन से भगवान शिव की पूजा अर्चना करता है, उसकी हर मनोकामना जरूर पूरी होती है। इस महीने में  भगवान शिव की पूजा अर्चना करते समय इन बातों का भी ध्यान रखना चाहिए। इससे न सिर्फ भगवान भोले की कृपा होगी, बल्कि पापों से भी मुक्ति मिलेगी।

रोज करें बाबा की भक्ति :


सावन के महीने में हर रोज मंदिर जाना चाहिए। हर रोज 21 बिल्वपत्रों पर चंदन से  ऊं नम  शिवाय  लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाने चाहिए। इस उपाय को करने से हर मनोकामना शीघ्र पूरी होती है। इसके साथ ही गाय और बैल को हरा चारा भी खिलाना चाहिए। इससे जीवन में सुख-समृद्धि बढ़ती है।

बनेंगे शादी के योग :


सावन के महीने में मनचाहे वर-कन्या के लिए युवक-युवतियों को सावन के सोमवार जरूर करने चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि इन सोमवार को करने से शीघ्र विवाह के योग बनते हैं, साथ ही मनचाहा जीवन साथी भी मिलता है। इसके साथ ही, विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए युवक-युवतियों को रोज शिवलिंग पर केसर मिश्रित दूध भी अर्पण करना चाहिए।

होगी धन की प्राप्ति  :

सावन के महीने में दान-पुण्य का अपना विशेष महत्व होता है। पूरे सावन आटे की गोलियां मछलियों को खिलानी चाहिए। इसके साथ ही  आमदनी बढ़ाने के लिए सावन के महीने में किसी भी दिन घर में पारद शिवलिंग की स्थापना करें। इससे धन प्राप्ति के योग बनते हैं। प्रत्येक सोमवार शिव जी को साबुत चावल भी चढ़ाने चाहिए। इससे आर्थिक स्थिति मजबूत होती है।   सावन में गरीबों को भोजन कराने से आपके घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती और साथ ही पितरों को भी शांति मिलती है।

बार बार होता है गर्भपात तो :


सावन के महीने में शिवजी से उत्तम संतान का वरदान भी मांगा जा सकता ळै। इसके लिए   गेहूं के आटे से 11 शिवलिंग बनाएं और प्रत्येक शिवलिंग का शिव महिम्न स्त्रोत से 11 बार जलाभिषेक करें। इस जल का कुछ भाग प्रसाद के रूप में ग्रहण करें। ऐसा लगातार 21 दिन तक करना है। अगर बार बार गर्भपात होता है तो गौरी रुद्राक्ष भी धारण करना चाहिए। इसके अलावा प्रत्येक सोमवार शिवजी को धतूरे का फूल चढ़ाना चाहिए। इससे उत्तम संतान की प्राप्ति होती है।

अन्य उपाय :


  • शिवजी को काले तिल चढ़ाने चाहिए। इससे पापों से मुक्ति मिलती है। 
  • शिवलिंग पर गंगाजल से चढ़ाने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। 



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.