poojan vidhhi

पूजा में जो दीपक और अखंड ज्योति जलाते हो क्या उसके पीछे का कारण पता है ? | What is the reason behind lighting Deepak?



*यह आर्टिकल राखी सोनी द्वारा लिखा गया है। 

दीपक प्रज्वलित किए बिना हमारी पूजा अधूरी मानी जाती है। वैसे हमारे शास्त्रों में दीपक जलाना अत्यंत आवश्यक माना गया है। दरअसल पूजन में पंचामृत का बहुत महत्व है और घी उन्हीं पंचामृत में से एक माना गया है। इसीलिए पूजा करते समय घी का दीपक जलाना काफी शुभ माना जाता है। 


ऐसा कहा जाता है कि पूजन करते समय जो भी व्यक्ति दीपक जलाता है, उसके सारे कष्ट और परेशानी दूर होती है। वैसे दीपक कई प्रकार के होते हैं। पीतल, लोहा, तांबा, मिट्टी आदि पदार्थ से दीपक बना होता है। वैसे पूजन करते समय मिट्टी का दीपक जलाना काफी अच्छा माना जाता है। इसके अलावा कुछ लोग आटे का भी दीपक बनाते है, इसके भी पूजा के लिए शुभ माना जाता है।

दूर होता है अंधकार :


पूजन करते समय जो भी व्यक्ति दीपक प्रज्वलित करता है, उसके जीवन में से अंधकार दूर होता है और रोशनी का आगमन होता है। दीपक जलाने से व्यक्ति के जीवन में हमेशा प्रकाश बना रहता है। इसके साथ ही घर का वास्तुदोष भी दूर होता है। वैसे कुछ लोग दीपक की जगह अपने पूजा घर में मोमबत्ती का प्रयोग करते है। शास्त्रों के अनुसार मोमबत्ती को पूजा घर में नहीं जलाना चाहिए। इससे नेगेटिव ऊर्जा का संचार होता है। इसलिए इसके प्रयोग से बचाना चाहिए।

गाय के दूध से बने घी का दीपक है श्रेष्ठ :


पूजन करते समय अगर आप गाय के दूध से बने घी का दीपक जलाते हैं, तो उसे अधिक श्रेष्ठ माना जाता है। दरअसल हमारे ग्रंथों में गाय को माता का दर्जा दिया गया। गाय का दूध शुद्ध माना जाता है। इसलिए पूजन करते समय गाय के दूध से बने घी के दीपक को जलाने से मां लक्ष्मी की विशेष कृपा होती है।

वैज्ञानिक दृष्टिकोण भी है इसके पीछे :

दीपक जलाने से न सिर्फ हमारी पूजा-अर्चना पूरी होती है, बल्कि इसे वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी काफी अच्छा माना जाता है।  घी और तेल का दीपक जलाने से वातावरण में सात्विक तरंगों की उत्पत्ति होती है। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। घर में से प्रदूषण दूर होता है। व्यक्ति स्वस्थ भी रहता है।  इतना ही नहीं, दीपक बुझने के बाद भी कई घंटों तक अपनी सात्विक ऊर्जा को बनाए रखता है।

खास मनोकामना के लिए जलायें खास दीपक :


दीपक से न सिर्फ हम अपने घर में पॉजिटिव एनर्जी का संचार कर सकते हैं, बल्कि अपनी विशेष मनोकामना भी शीघ्र पूरी कर सकते हैं। खास मनोकामनाएं के लिए खास तरह के दीपक का उपयोग करना चाहिए। घर में लक्ष्मी का आगमन बना रहे, इसके लिए शुद्ध देशी घी का दीपक जलाना चाहिए। इससे घर में पैसों की कमी दूरी होती है।


  • शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने के लिए प्रतिदिन भैरव जी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए। इससे आप शत्रुओं पर विजय प्राप्त करते हैं।
  • शनि देव की कृपा बनी रहे, इसके लिए तिल के तेल का दीपक जलाना चाहिए। अगर किसी व्यक्ति के राहु और केतु दोनों ग्रहों की दशा खराब चल रही हो तो उसे अलसी के तेल का दीपक मंदिर में जलाना चाहिए। इससे ग्रंह शांत होते हैं।



About Pawan Upadhyaya

MangalMurti.in. Powered by Blogger.