Recipes

सावन में गुंझिया ना बनायी तो फिर आपने कुछ नहीं बनाया । recipe of gunjiya




सावन त्योहारों का महीना होता हैं तो स्वाभविक सी बात हैं की इस महीने मिठाइयाँ तो रहेंगी ही घर में परन्तु सावन में सबसे ज्यादा महत्व होता हैं गुंझिया का। सावन के महीने में एक चलन भी होता हैं की विवाहित बहनों एवं बेटियों के घर पर गुंझिया दी जाती हैं। गुंझिया एक ऐसी मिठाई होती हैं जो बड़े और छोटे सभी को प्रिय होती हैं। गुंझिया को फ्रिज में रखे बिना 6-7 दिन तक उपयोग में लाया जा सकता हैं। 

गुंझिया बनाने के लिए आवशयक सामग्री -

गुंजिया बनाने के लिए बहुत ही सरल समग्रियों का प्रयोग होता हैं जो की आसानी से बाजार में मिल जाती हैं। 

गुंझिया में भरने के लिए प्रयुक्त सामग्री -

मावा / खोया   -400 ग्राम 
शक्कर           -400 ग्राम (पिसी हुई )
सूजी               -400 ग्राम 
सूखा नारियल  -400 ग्राम 
काजू               -100 ग्राम (कतरे हुए)
किशमिश        -50 ग्राम (बिना डंढल के)
घी                   -02 बड़े चम्मच 
छोटी इलाइची  -08 (छील कर कुटी हुई)

गुंझिया का आटा कैसे तैयार करें -

दूध    -50 ग्राम 
घी     -125 ग्राम (आटे में डालने के लिए)     
घी     -गुंझिया तलने के लिए

गुंझिया बनाने की विधि -


गुंझिया को बनाने के लिए सबसे पहले उसके भरावन को तैयार करना पड़ता हैं। उसके लिए एक भरी तले कड़ाई ले उसमे बतायेनुसार खोया (मावा) डालकर भून ले। मावे को हल्का भूरा होने तक भूने। जब मावा भुन जाये तब उसको एक बर्तन में निकल लें। फिर सूजी को हलु भूरा होने तक भूने, भुनने के बाद सूजी को एक बर्तन में निकल लें। मावा, सूजी, शक्कर, घी और मेवाओं को अच्छी तरह से मिला ले। आपकी गुंझिया का भरावन तैयार हैं। 
अब बारी हैं गुंझिया का आटा तैयार करने की। गुंझिया का आटा तैयार करने के सबसे पहले तो घी को गरम कर ले फिर उसमे छनी हुई मैदा डाले और दूध को भी डालें। फिर आवश्यकतानुसार पानी डालकर मैदा को अच्छे तरीके से गूथ ले आटा थोड़ा कड़ा रखें। आटा तैयार होने के बाद एक बर्तन में रख ले और गीले कपडे से ढक दें। आटे को करीब आधे घंटे तक ऐसे ही ढका हुआ रखे रखें।
आधे घंटे के बाद आटे को फिर से हलके हाथों से गूँथ ले। अब आटे की छोटी-छोटी लोई बनाये लोई बिलकुल पूरी के जैसे बनेंगी। लोई हवा में सुख न जये उसके लिए गीले कपडे से ढक्कर रखें। अब एक-एक करके लोइयों को पूरी के जैसे बेल लें। 

अब एक एक पूरी को उठाये उसमे 2 बड़े चम्मच भरावन भरें और पूरी को बीच से पलट दें और फिर किनारों को मोड़ दें। अगर आपको यह कठिन लगे तो आप गुंझिया बनाने वाले सांचे का भी प्रयोग कर सकते हैं। अब सारी पुरियो को इसी प्रकार भरकर गुंझिया के रूप में तैयार कर लें। 

अब सबसे ज्यादा जरूरी जरूरी और आखिरी काम रह गया हैं गुंझियाओं को तलने का। यह काम बहुत ही सावधानीपूर्वक करें। भरी तले वाली कड़ाई ले उसमे घी गर्म करे जब घी गर्म हो जाये आंच को मीडियम कर दे और उसमे गुंझिया डाल दें। जितनी गुंझिया एक बार में कड़ाई में आ जाये। गुंझिया को हलके भूरे होने तक उलट पलट करके सेंक लें। ऐसी प्रकार साडी गुंझियाओं को तल ले। 

अब आपके द्वारा बनाई गयी स्वादिष्ट गुंझिया तैयार हैं। गरमा गर्म गुंझिया को थाली में परोसकर सबको खिलाये और आप भी खाये।   



About deepa singhal

MangalMurti.in. Powered by Blogger.